अधेड़ की पुकार, मुझे मेरी बीबी से बचाव: तंत्रमंत्र से मिला इंसाफ न कानून कर रहा मदद, पीड़ित खा रहा सड़क पर ठोकरे

क्राइम देश-दुनिया
  • खास बातें
  • अधेड़ की पुकार, मुझे मेरी बीबी से बचाव: तंत्रमंत्र से मिला इंसाफ न कानून कर रहा मदद, पीड़ित खा रहा सड़क पर ठोकरे
  • पीड़ित को इंसाफ कैसे मिलेगा जबतक पुलिस उचित कार्रवाई नही करेगी लेकिन यह कब और कैसे होगा यह बड़ा सवाल है?

रोज़ाना खबर ब्यूरो, मेरठ

अपनी कथित पत्नी व बेटे के उत्पीड़न का शिकार पीड़ित अब सड़को पर ठोकरे खानें को मजबूर है। यह वही पीड़ित है जिसे पुलिस ने कानून के बदले तंत्रमंत्र के द्वारा इंसाफ मिलने की आस जगाई थी। लेकिन वह आज दरदर की ठोकरे खानें को मजबूर है।


गौरतलब है कि थाना नौचंदी पुलिस ने पीड़ित हेमंत गोयल को कानून के बदले तंत्रमंत्र के द्वारा इंसाफ दिलाने का दावा किया था और बाकायदा पीड़ित को मंत्र भी लिखकर दिये थे। लेकिन मंत्रो का उच्चाण करने के बाद भी पीड़ित अपनी कथित पत्नी व बेटे के उत्पीड़न का शिकार होता रहा। इंस्पेक्टर नौचंदी ने फिर से तंत्रमंत्रों के द्वारा समस्या का समाधान होने की बात कही थी लेकिन कुछ नही हुआ। वही पीड़ित को पुलिस द्वारा कोई भी कानूनी मदद नही मिली थी। हां इतना ज़रूर है कि मामला मीडिया में आने के बाद पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया था लेकिन कार्रवाई के नाम पर कुछ नही किया गया। अब शनिवार को पीड़ित फिर से सामने आया और अपनी आपबीती सुनाई। उसका साफ कहना है कि वह अब सड़को पर घूम रहा है, कथित पत्नी व बेटे ने उसके घर पर कब्जा कर लिया है। अब उन्हे इंसाफ चाहिए।

पीड़ित को इंसाफ कैसे मिलेगा जबतक पुलिस उचित कार्रवाई नही करेगी लेकिन यह कब और कैसे होगा यह बड़ा सवाल है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.