मोदी सरकार के 7 साल पूरे होने पर नहीं होगा जश्न, भाजपा शासित राज्यों को नड्डा ने यह करने को कहा

देश-दुनिया
  • अपने पत्र में जेपी नड्डा ने लिखा है कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के सात साल होने के मौके पर भाजपा जश्न का कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं करेगी। उन्होंने इस मौके पर विभिन्न कल्याणकारी कार्यक्रम आयोजित किए जाने को कहा है।

रोज़ाना खबर ब्यूरो

30 मई को मोदी सरकार के 7 साल पूरे होने वाले हैं। ऐसे मौके पर भाजपा कार्यकर्ता और नेताओं में जश्न का माहौल होता है और वह पूरे उत्साह में रहते हैं। लेकिन इस बार ऐसा कुछ दिखाई नहीं देगा। भाजपा ने इस बार कोई भी जश्न का कार्यक्रम नहीं करने का निर्णय लिया है। इस बात को लेकर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी द्वारा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र भी लिखा है। अपने पत्र में जेपी नड्डा ने लिखा है कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के सात साल होने के मौके पर भाजपा जश्न का कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं करेगी। उन्होंने इस मौके पर विभिन्न कल्याणकारी कार्यक्रम आयोजित किए जाने को कहा है।

भाजपा प्रमुख जेपी नड्डा ने पार्टी के शासन वाले राज्यों से मोदी नीत केंद्र सरकार के सात साल होने के मौके पर 30 मई को कोविड-19 महामारी से अनाथ हुए बच्चों की मदद के लिए कार्यक्रमों की शुरुआत करने को कहा है। अपने पत्र में नड्डा ने लिखा है कि पिछली एक शताब्दी में कभी भी दुनिया ने इस तरह की त्रासदी नहीं देखी है और ना ही अनुभव की है। कोरोना महामारी से ना सिर्फ भारत बल्कि पूरी दुनिया प्रभावित हुई है। 100 साल के बाद आई इस भीषण महामारी ने हमारे कई अपनों को छीना है। हमारे राष्ट्र व समाज में कई गहरे जख्म दिए हैं। उन्होंने आगे लिखा है कि दुर्भाग्य से यह विभीषिका इतनी बड़ी है कि अनेक बच्चे अनाथ हो गए हैं। उनके माता-पिता इस महामारी के शिकार हो गए हैं। उनके जीवन में आए इस दुख का एहसास हम सभी को है। उनके भविष्य के लिए सोचना और ठोस कदम उठाना हमारा दायित्व है। ऐसे में इन बच्चों के सुरक्षित भविष्य के लिए उनके साथ खड़े होना, उनको हर तरह का संबल देना हमारा सामाजिक कर्तव्य भी है।

भाजपा प्रमुख जेपी नड्डा ने पार्टी के शासन वाले राज्यों से मोदी नीत केंद्र सरकार के सात साल होने के मौके पर 30 मई को कोविड-19 महामारी से अनाथ हुए बच्चों की मदद के लिए कार्यक्रमों की शुरुआत करने को कहा है। अपने पत्र में नड्डा ने लिखा है कि पिछली एक शताब्दी में कभी भी दुनिया ने इस तरह की त्रासदी नहीं देखी है और ना ही अनुभव की है। कोरोना महामारी से ना सिर्फ भारत बल्कि पूरी दुनिया प्रभावित हुई है। 100 साल के बाद आई इस भीषण महामारी ने हमारे कई अपनों को छीना है। हमारे राष्ट्र व समाज में कई गहरे जख्म दिए हैं। उन्होंने आगे लिखा है कि दुर्भाग्य से यह विभीषिका इतनी बड़ी है कि अनेक बच्चे अनाथ हो गए हैं। उनके माता-पिता इस महामारी के शिकार हो गए हैं। उनके जीवन में आए इस दुख का एहसास हम सभी को है। उनके भविष्य के लिए सोचना और ठोस कदम उठाना हमारा दायित्व है। ऐसे में इन बच्चों के सुरक्षित भविष्य के लिए उनके साथ खड़े होना, उनको हर तरह का संबल देना हमारा सामाजिक कर्तव्य भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.