तेल के खेल में नायरा पेट्रोल पंप के मालिक राकेश गुप्ता गिरफ्तार

क्राइम
  • एसटीएफ की टीम ने शहर और देहात के 12 पेट्रोल पंपों पर एक साथ छापा मारा।
  • एएसपी एसटीएफ बृजेश सिंह ने बताया कि  पांच पंपों पर मिलावट और घटतौली मिली है।

रोज़ाना खबर-पहली वार्ता ब्यूरो

पिछले कुछ समय से नायरा कंपनी के पंपों पर मिलावट और घटतौली की शिकायतें पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों के पास आ रही थीं। गुरुवार शाम एसटीएफ की टीम ने शहर और देहात के 12 पेट्रोल पंपों पर एक साथ छापा मारा। संदेह होने पर परतापुर एनएच-58 हाईवे, माधवपुरम, सैनी इंचौली, मवाना और हसनपुर भटीपुरा में बने पेट्रोल पंप पर एसटीएफ ने जिला आपूर्ति की टीम को बुलाकर जांच कराई।

एएसपी एसटीएफ बृजेश सिंह ने बताया कि इन पांच पंपों पर मिलावट और घटतौली मिली है।
जांच टीम के मुताबिक, पंप की मशीन के मदर बोर्ड को होल्ड किया गया था और ऑटोमैटिक सिस्टम में चिप लगी थी।

मशीन के सिस्टम को हैक करने के बाद ही मिलावट और घटतौली का काम किया जाता था। जांच के बाद संबंधित थाना पुलिस को पंप पर बुलाया गया है। 


वहां परतापुर वाले पंप मालिक अश्रेय, माधवपुरम के अवनीश और सैनी पंप के मालिक राकेश गुप्ता को हिरासत में लिया गया है। मवाना और हसनपुर भटीपुरा वाले पंप मालिक फरार हो गए। उनकी तलाश में पुलिस लगी है। एएसपी एसटीएफ ने बताया कि जिला आपूर्ति अधिकारी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। डीएम की अनुमति के बाद कार्रवाई होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *